istockphoto-1288129985-612x612.jpg

प्रतिभा गुप्ता

कविताएं

दीदी! यहाँ क्यों छूता है चाचा
ईश्वर की पात्रता